रेड क्रॉस सोसायटी अल्मोड़ा ने लुई पाश्चर को याद कर किया रक्तदान

 

हमेशा से ही रेडक्रॉस सोसायटी समाज के लिए प्रेरित करने वाले कार्य करती आई है। जैसा कि आप सभी को विदित है भारतीय रेडक्रॉस सोसायटी अपना शताब्दी वर्ष बना रही है। अतः आज दिनांक 6 जुलाई 2020 को रेडक्रास सोसाइटी अल्मोड़ा ने विशेष प्रयोजन से रक्तदान शिविर व प्रशिक्षण का आयोजन कर इस दिन को मनाया।
आज ही के दिन 6 जुलाई 1885 को महान वैज्ञानिक लुई पाश्चर ने रेबीज के टीके का सफल परीक्षण किया। उनकी इस खोज ने मेडिकल की दुनिया में क्रांति ला दी थी और मानवता को एक बडे़ संकट से बचा लिया। मानवता के लिए संजीवनी खोजने वाले लुई पाश्चर के आविष्कार को याद करते हुए रेडक्रॉस सोसाइटी अल्मोड़ा ने आज जिला चिकित्सालय अल्मोड़ा में रक्तदान शिविर का आयोजन किया, जिसमें 10 रक्तदाताओं द्वारा रक्तदान किया गया और 13 अन्य व्यक्तियों ने कभी भी आवश्यकता पड़ने पर अपना नाम संरक्षित करवाया।

इस शिविर के लिये रेडक्रॉस की उपाध्यक्षा सुश्री हेमलता भट्ट की संस्था महिला बाल स्वास्थ्य समिति अल्मोड़ा के सौजन्य से रक्तदाताओं को एकत्रित करके रक्तदान करवाया गया। रक्तदान के अवसर पर चेयरमैन रेडक्रॉस अल्मोड़ा श्री किशन गुरुरानी, श्री मनोज सनवाल सदस्य रेडक्रॉस, डॉ. आर. एस.शाही,जिला ब्लड बैंक अधिकारी अल्मोड़ा एवं उनका स्टॉफ आदि सम्मिलित हुए। डॉ. शाही ने रक्तदाताओं को रक्तदान के विषय में व्याख्यान दिए।रेडक्रॉस स्वास्थ्य समिति के उपाध्यक्ष डॉ.जे.सी.दुर्गापाल ने आइक्यू सेंटर तथा छावनी परिसर अल्मोड़ा में टीकाकरण से संबंधित व्याख्यान दिए और उन्होंने *लुई पाश्चर* की जीवनी पर प्रकाश डाला।

इस अवसर पर सदस्य रेडक्रॉस श्री मनोज सनवाल द्वारा फ्रूटी की 5 पेटी रेडक्रॉस सोसाइटी को दी गई। तथा रेडक्रॉस सोसाइटी की उपाध्यक्षा सुश्री हेमलता भट्ट द्वारा जनहित में 220 सेनेट्री पैड व 100 मास्क ज़रूरतमंद किशोरियों को वितरित किए।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *