1 सितम्बर से होंगे डिग्री कॉलेजों में प्रवेश, UGC गाइडलाइन के तहत 1 अक्टूबर से नया शैक्षणिक सत्र प्रारम्भ

उच्च शिक्षण संस्थानों में 1 सितम्बर से होंगे प्रवेश, UGC गाइडलाइन के तहत 1 अक्टूबर से नया शैक्षणिक सत्र प्रारम्भ होगा। विश्वविद्यालयों को 30 अक्टूबर तक सभी परीक्षा परिणाम जारी करने होंगे।

नई शिक्षा नीति लागू करने के लिए होम वर्क शुरू करने के निर्देश दिए गए। आज सचिवालय स्थित वीर चन्द्र सिंह गढ़वाली सभागार में आयोजित राजकीय एवं निजी विश्वविद्यालयों की बैठक में कई अहम फैसले लिये गये।

बैठक में निर्णय लिया गया कि राज्य के समस्त उच्च शिक्षण संस्थानों में प्रथम वर्ष एवं प्रथम सेमेस्टर के प्रवेश पहली सितम्बर से प्रारम्भ कर दिये जायेंगे।

जबकि यूजीसी गाइडलाइन का पालन करते हुए एक अक्टूबर से नया शिक्षण सत्र शुरू करना होगा। इसी क्रम में सभी राजकीय विश्वविद्यालयों को 30 अक्टूबर तक समस्त परीक्षा परिणाम घोषित करने के निर्देश दिये गये हैं।

कोविड नियमों का पालन करते हुए मेडिकल, पैरामेडिकल एवं नर्सिंग कालेजों को अगस्त माह में खोले जाने की मांग पर अनुमति प्रदान करने का निर्णय लिया गया है।

बैठक में राज्य में नई शिक्षा नीति लागू करने के उद्देश्य से गठित टास्क फोर्स को अभी से होम वर्क शुरू करने के निर्देश दिये गये।

राज्य के सभी विश्वविद्यालयों में एनसीसी,एनएसएस एवं रेडक्रास सोसाइटी की ईकाइयां स्थापित करने के लिए कुलपतियों को निर्देशित किया गया।

इसके अलावा विश्वविद्यालयों में जागरूता अभियान के अंतर्गत घटते हुए लिंगानुपात पर सेमिनार आयोजित करने, नमामि गंगे परियोजना के तहत 3-डी पेंटिंग हेतु नोडल अधिकारी नियुक्त करने, जल जीवन मिशन के तहत विज्ञान प्रयोगशाला प्रस्ताव भेजने के निर्देश कुलपतियों को दिये।

ब्लॉक स्तर पर सार्वजनिक पुस्तकालय खोले जाने हेतु नेशनल लाइब्रेरी कोलकता के सहयोग से सेमीनार आयोजित करने हेतु विश्वविद्यालयों को कहा गया। कोविड-19 गाइडलाइन के अंतर्गत अक्टूबर माह में सभी राजकीय एवं निजी विश्वविद्यालयों को दीक्षांत समारोह आयोजित करने के निर्देश दिये गये।