अल्मोड़ा ट्रैफिक इंस्पैक्टर व ट्रैफिक जवान ने पेश की ईमानदारी की मिशाल

ट्रैफिक इन्सपैक्टर गणेश सिंह हरड़िया मय हमराह ट्रैफिक कानि0 रविशंकर राणा के नगर की यातायात व्यवस्था सुव्यवस्थित करने के लिए सरकारी वाहन से गश्त पर थे तो गश्त के दौरान इनको सीतापुर मोड़ के पास महत्वपूर्ण कागजात व नगदी भरा पर्स रोड पर गिरा मिला, पर्स मे मिले कागजातों के अवलोकन पर पर्स किसी आर्मी जवान का मालूम हुआ लेकिन पर्स में आर्मी जवान का कोई सम्पर्क नम्बर नही मिलने पर ट्रैफिक इन्सपैक्टर द्वारा पुलिस कंट्रोल रुम अल्मोड़ा को पर्स मिलने की सूचना दी और कागजात में अंकित पर्स के मालिक आर्मी जवान के पत्ते के जिले व नजदीकी थाने से सम्पर्क कर पता लगाने के लिए कहा गया तो पुलिस कन्ट्रोल रुम अल्मोड़ा द्वारा बताये गये पते के जिला पिथौरागढ़ के कन्ट्रोल रुम में सम्पर्क कर नजदीकी थाने व ग्राम प्रधान से सम्पर्क कर पर्स के मालिक आर्मी जवान का सम्पर्क नम्बर मालूम किया गया। पर्स के मालिक को फोन पर सम्पर्क किया गया और पर्स मिले होने की सूचना दी गई, पर्स मालिक आर्मी जवान मनोज बिष्ट पुत्र तारा सिंह निवासी अस्कोट पिथौरागढ द्वारा खुद आकर ट्रैफिक इन्सपैक्टर व ट्रैफिक जवान से महत्वपूर्ण कागजात व नगदी भरे पर्स को सकुशल प्राप्त किया। 

आर्मी जवान द्वारा ट्रैफिक इन्सपैक्टर व ट्रैफिक कानि0 द्वारा दिखाई गई ईमानदारी की भूरी-भूरी प्रशंसा की गई। आर्मी जवान ने उससे सम्पर्क करने के लिए अल्मोड़ा पुलिस द्वारा किये गये प्रयास की सराहना करते हुए कहा कि वाकई आपकी मित्रता का कोई जवाब नही।