कुमाऊँ विश्वविद्यालयद्वारा आठवें अंतराष्ट्रीय योग दिवस के पूर्व दिवस में योग फ़ॉर ह्यूमिनिटी थीम के अंतर्गत योगासन प्रतियोगिता का आयोजन किया गया, योगनिलयम योगासन स्पोर्ट्स एकेडमी के बच्चों ने बेहतर प्रदर्शन कर प्राप्त किया प्रथम स्थान

कुमाऊँ विश्वविद्यालय के योग विभाग द्वारा आठवें अंतराष्ट्रीय योग दिवस के पूर्व दिवस में योग फ़ॉर ह्यूमिनिटी थीम के अंतर्गत योगासन प्रतियोगिता का आयोजन यूजीसी एच आर डी सी केंद्र में किया गया। जिसमें योगनिलयम शोध संस्थान द्वारा संचालित योगनिलयम योगासन स्पोर्ट्स एकेडमी के योग अंडर-14 खिलाड़ियों ने अपने बेहतर प्रदर्शन के साथ महाविद्यालयों की टीमों के बीच पहले ही प्रयास में समूह व एकल दोनों ही योग प्रतियोगिताओं में प्रथम स्थान प्राप्त किया। 

ओपन योग प्रतियोगिता का शुभारंभ कुमाऊं विश्वविद्यालय के कुलपति डॉ0 एन0के0 जोशी, क्रीड़ाधिकारी डॉ0 नागेंद्र शर्मा तथा योग विभागाध्यक्ष डॉ0 सीमा चौहान ने संयुक्त रूप से दीप प्रज्वलन कर किया। कुलपति का स्वागत तिलक लगाकर किया, साथ ही पुष्प गुच्छ और श्रीमद्भागवत गीता भेंट की।

इस अवसर पर कुलपति ने कहा कि योग सार्वभौमिक चेतना के साथ व्यक्तिगत चेतना का एक होना है, योग शरीर मन औऱ भावनाओ का एक होना है यह भौतिक, मानसिक, भावनात्क, आत्मिक, आध्यात्मिक चेतना का मार्ग है, यह जीवन जीने का विज्ञान है। 

निदेशक डी एस बी प्रोफ एल एम जोशी, प्रोफ एल एस लोधियाल, नीता बोरा शर्मा, डॉ नागेंद्र शर्मा, दुर्गेश डिमरी का स्वागत तिलक लगा, पुष्प गुच्छ भेंट कर, श्रीमद्भागवत गीता भेंट की। कार्यक्रम का संचालन प्रो० ललित तिवारी ने किया। विभागाध्यक्ष डॉ सीमा चौहान ने सभी का स्वागत किया। योग संयोजक प्रोफे. संजय गिलडियाल ने सबका धन्यवाद किया। कुलपति एवं युवा अधिकारी डोलवी तिवटिया ने विजेताओं को पुरुस्कार वितरित किए जिसमे टीम प्रतियोगिता में प्रथम स्थान- योगनिलयं अल्मोड़ा तथा व्यक्तिगत योग प्रतियोगिता में भी नविका जैड़ा ने प्रथम,  हिमांशु परगाई व धीरज बिनोली ने योगनिलयं की ओर से संयुक्त रूप से द्वितीय स्थान प्राप्त किया। इस उपलब्धि पर योगनिलयं के निदेशक डॉ0 प्रेम प्रकाश पांडेय व योगनिलयं परिवार ने विद्यार्थियों के उज्ज्वल भविष्य की कामना की।